10 जुल॰ 2020

Blog Google Ranking Down होने के मुख्य कारण ? Main 16 Reason

हैलो दोस्तो कैसे हो आप , दोस्तो आज मै आपको बताऊंगा  Blog Google Ranking Down होने के मुख्य क्या कारण है , दोस्तो आपकी Google ranking अचानक से कम हो गई है। इसके कई कारण हो सकते हैं। इस पोस्ट में, हम आपको बताएँगे, Google किसी भी वेबसाइट की रैंकिंग को कम क्यों कर देता है।
why-search-rankings-traffic-drop

Google दुनिया का सबसे बड़ा सर्च इंजन है और Google में टॉप रैंक प्राप्त करना आपकी साईट की सफलता का संकेत है। इसी वजह से सभी Google सर्च रिजल्ट में अपनी वेबसाइट/ब्लॉग को टॉप पर देखना चाहता है । यदि आप अपनी साइट की गूगल रैंकिंग में सुधार करना चाहते हैं, तो साईट को सही से Setup और optimization करना बहुत महत्वपूर्ण है ताकि आप आसानी से अधिक Organic search (traffic) प्राप्त कर सकें।

Google Ranking Dropped  होने के  कारण:

दोस्तो, कोई नहीं जानता है कि Google किस algorithm पर काम करता है, और Google इसे शेयर भी नहीं करता है, इसलिए यदि आपकी साइट की खोज रैंकिंग गिरती है, तो इसको पता करना बहुत मुश्किल हो जाता है।लेकिन अगर आपको पता चल जाता है कि Google आपकी वेबसाइट रैंकिंग को क्यों कम कर रहा है, तो आप इसे आसानी से ठीक और रिकवर कर सकते हैं।

1.Lost Links

जब आपकी साइट बैकलिंक्स खोती है, तो आप:की साइट रैंकिंग भी प्रभावित होती है और Google ranking dropped होने का यह एक और कारण हो सकता है। आप अपनी साइट के बैकलिंक्स की जांच के लिए Majestic या Ahrefs टूल का उपयोग कर सकते हैं। ये टूल आपको Real-time information provide करता हैं ताकि आप आसानी से अपनी साइट बैकलिंक्स को Analyze कर सकें।

2.Ranking on Irrelevant Keywords

आपकी Google ranking dropped होने का यह मुख्य कारण हो सकता है। आपने ऐसे कीवर्ड का उपयोग किया हो जो आपके ब्लॉग के टॉपिक या niche से संबंधित नहीं हैं और Google ऐसी साइट पसंद नहीं करता है।उदाहरण के लिए, आप एक Tech blog चला रहे हैं लेकिन उस पर Health से संबंधित कंटेंट शेयर करते है जो बिल्कुल गलत है। आप ऐसा बिलकुल भी न करे। 

3.Broken Redirects

यदि आप अपनी साइट को किसी नए सर्वर या डोमेन पर ले जाते हैं तो Proper redirection बहुत महत्वपूर्ण है, यदि आप अपनी साइट को ठीक से redirect सेट नहीं करते हैं, तो  आपकी वेबसाइट की रैंकिंग को कम कर देगा। आप इसका ध्यान जरूर रखे कि आपने 301 redirects के बाद canonical tags, XML sitemap, links को ठीक से अपडेट किया हैं या नहीं। 

4.Server Issues

यदि आपकी साइट का सर्वर बहुत स्लो है तो आपको बहुत नुकसान हो सकता हैइससे आपकी Ranking और Traffic पर असर पड़ेगा क्योकि सर्वर कम होने से आपके Page लोड होने मे ज्यादा समय लगेगा ,जो एक साइट के लिए अच्छा नहीं है। 

यह महत्वपूर्ण है कि आप किसी भी सर्वर समस्या को जल्दी से हल करें। आपको अपने सर्वर problem को सही करनी चाहिए इसके लिए आप  Google के Fetch और Render टूल का उपयोग करें।

5.Internal Navigation

आपकी वेबसाइट नेविगेशन आपके viewer को बताता है कि उन्हें आपकी साइट पर क्या और कहां जानकारी मिलेगी। यह हमारी Menu, Button, Pages के बारे मे बताती है जिससे visitor आसानी से हमारी साइट पर सर्च कर सके। अगर visitor को आपके ब्लॉग/साइट पर किसी बटन पर क्लिक करने मे प्रॉबलम हो रही है तो ये आपके लिए एक प्रोब्लेम है। यह संभव है कि खोज इंजन आपकी वेबसाइट  को क्रॉल करना बंद कर देंगे। यह बदले मेंआपकी रैंकिंग कम करेगा और आपको  कम ट्रैफ़िक मिलेगा।

6.Meta Information

Meta Information, या मेटा टैगका उपयोग सर्च इंजन को यह बताने के लिए किया जाता है कि आपकी साइट पर  क्या जानकारी मिलती  है। मेटा डेटा सबसे महत्वपूर्णआपकी एसईओ रैंकिंग को बढ़ाने में मदद करता है , अन्य प्रकार की Meta Information जो आपकी वेबसाइट रैंकिंग में मदद कर सकती हैं। अगर आप Meta Information को गलत है तो यह आपके लिए सही नहीं है इसलिए जो भी जानकारी दे वो सब सही होनी चाहिए। 

7. Manual Actions

यदि आपकी साइट रैंकिंग में अचानक से गिरावट आई है, तो यह संकेत करता है कि Google ने आपकी साइट को penalize किया है। यदि आपकी साइट अन्य सर्च इंजन में टॉप रैंक करती है लेकिन Google में नहीं, तो यह Google Penalty का एक sign है। जितनी जल्दी हो सके इसे फिक्स करने की कोशिश करें और इसके लिए, आप Google Search Console Tools का उपयोग कर सकते हैं। सबसे पहले, अपने Google Search Console account में लॉग इन करें और Manual Actions section पर जाएं। यहां आप देख सकते हैं कि Google ने आपकी साइट को penalized क्यों किया है। 

8. Algorithm Changes

Google आपकी साइट का ख्याल नहीं करता है, यह केवल अपने Users का ख्याल रखता है। इसलिए, यह हमेशा अपने सर्च एल्गोरिदम को अपडेट करता रहता है ताकि वे अपने Users को Relevant results प्रदान कर सकें। जब Google अपने एल्गोरिदम अपडेट करता है, तो कई वेबसाइटें बुरी तरह प्रभावित होती हैं और उनकी Search traffic और ranking बहुत नीचे गिर जाती है।

9. Depend on Geolocation

गूगल सर्च रिजल्ट यूजर के लोकेशन पर भी depand करता है। यदि आप किसी Specific location के लिए अपनी साइट रैंकिंग की जांच करते हैं तो Accurate understanding के लिए आपको अन्य लोकेशन के लिए भी search करनी चाहिए। 
उदाहरण के लिए, यदि आपको किसी Specific keyword or phrase के लिए टॉप 10 रैंक मिलता है, तो यह अन्य Locations में समान नहीं होगा।
क्या आप जानते हैं, एक Specific search के लिए आपको जो रिजल्ट मिलते हैं, वे किसी अन्य व्यक्ति के लिए पूरी तरह अलग हो सकते हैं। इसके अतिरिक्त, जब आप अपने Google Account में लॉग इन करके जो सर्च रिजल्ट प्राप्त करते हैं, तो लॉग आउट करने के बाद यह पूरी तरह अलग होगा।

10. Competition

यदि आप अपनी साइट पर सब कुछ ठीक से Optimize करते हैं लेकिन फिर भी Google ranking dropped होती है, तो यह Competition का कारण हो सकता है और आपके competitors आपके से बेहतर कर रहे हैं।

11. Page Speed

फास्ट लोडिंग वेबसाइट आपके रैंकिंग और user experience दोनों को प्रभावित करती है।
यदि आपकी साइट को लोड होने में अधिक समय लगता है, तो विजिटर आपकी साइट को खुलने तक प्रतीक्षा नहीं करेगा क्योंकि कोई भी Slow लोडिंग साईट पर विजिट करना पसंद नहीं करता है। वह तुरंत आपकी साइट से Exit हो जाएगा और किसी अन्य सर्च रिजल्ट पर क्लिक करेगा जो आपकी Bounce rate बढ़ा देगा। आप अपनी साइट की लोडिंग Speed जांच के लिए PageSpeed InsightsPingdom और GTmetrix टूल का उपयोग कर सकते हैं।

12. Bad Quality Link

Bad quality links आपकी साइट की Google ranking को कम करने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। यदि आप अपनी साईट के लिए Spam links बनाते हैं या बैकलिंक्स खरीदते हैं, तो Google आपकी साइट को penalize या blacklist कर सकता है। Google साफ़ कहता है कि हमेशा अपनी साइट के लिए Quality backlinks बनाये। इसलिए Google penalty से बचने के लिए हमेशा क्वालिटी बैकलिंक्स प्राप्त करने का प्रयास करें।

13. Click-Through Rate Changes

जब Google किसी साइट को रैंक करता है, तो वह सबसे पहले आपकी साईट पर user experience (user satisfied) को चेक करता है। यदि आपकी साईट की Bounce rate बहुत अधिक है, तो यह भी हो सकता है कि लोग आपकी कंटेंट पर क्लिक कर रहे है लेकिन जल्दी से Exit हो जा रहे है और रिजल्ट, Google Click-through rate (CTR) के आधार पर आपकी रैंकिंग को कम कर देता है।

14. Duplicate Content

हमेशा Unique और quality content लिखें। इसके अलावा, आपकी आर्टिकल दिलचस्प और evergreen होनी चाहिए।  आप अपने ब्लॉग पर डुप्लिकेट कंटेंट पब्लिश न करे , नहीं तो Google आपकी सर्च रैंकिंग को कम करे देगा और यहाँ तक कि गूगल आपके ब्लॉग को ब्लैकलिस्ट भी कर सकता है।

15. Updating frequency

यदि आप अपने ब्लॉग पर Regular पोस्ट पब्लिश नहीं करते हैं, तो यह आपकी वेबसाइट रैंकिंग और रीडर दोनों कम हो सकते है। इसलिए, नियमित रूप से अपने ब्लॉग पर quality और unique post पब्लिश करने का प्रयास करें, यह आपकी Google ranking को बेहतर बनाने में मदद करता है। नहीं तो , आपके Competitor आपको हरा सकता है और आपकी रैंकिंग और ट्रैफिक धीरे-धीरे कम हो जाएगी।

16.Source of Traffic

आपकी वेबसाइट के ट्रैफ़िक में न केवल आपकी साइट की विज़िट की संख्याबल्कि क्लिक किए गए पृष्ठों की संख्या और प्रत्येक पृष्ठ पर खर्च किए गए समय होता है। गूगल ये सब देखता है की आपकी साइट पर ट्रेफिक कहा से आ रहा है ओर कोण से page पर आ रहा है। 
ट्रैफ़िक कई माध्यम से आ सकता है जैसे-
  • Referrals.
  • Direct traffic.
  • Organic search.
  • Paid search.
  • Social media.
  • Email marketing
ये सब तरीके Ranking के लिए बहुत जरूरी हैआप इन सबका उपयोग करके अपनी साइट का ट्रेफिक ओर ranking दोनों बढ़ा सकते है अगर आप ये सब उपयोग नहीं करते है तो आप अपनी साइट की Rank खो सकते है। 

Conclusion 
मुझे लगता है की आप ये सब समझ गए होंगे की आप आप अपनी साइते को drop होने से कैसे बचा सकते है तो दोस्तो आपको यह पोस्ट कैसी लगी हमे जरूर बताएगा ,और अगर आपका कोई सवाल है तो आप हमसे जरूर पूछ सकते है हम, आपकी जरूर मदद करेंगे, धन्यवाद । 

कोई टिप्पणी नहीं:
Write comment